अन्य

अर्थी पर कैम्पेन, श्मशान में पार्टी ऑफिस

36 साल के राजन यादव उर्फ़ ‘अर्थी बाबा’ ने आज इस गाँव को प्रचार के लिए चुना है. साथ में चार सहायक हमेशा रहते हैं. अर्थी को कंधा देने के लिए. बॉलीवुड कॉमेडियन राजपाल यादव की ‘सर्व संभव पार्टी’ के उम्मीदवार राजन एमबीए कर चुके हैं.  उनके मुताबिक़ विदेश से नौकरी का न्योता भी आया था लेकिन ‘मना कर दिया. ‘अर्थी बाबा’ की पसंदीदा सब्ज़ी कद्दू है और फ़ेवरिट कार ऑडी. इनका चुनावी कार्यालय गोरखपुर राजघाट पर स्थित श्मशान घाट है. लेकिन चुनाव प्रचार वे अर्थी पर विराजमान हो करते हैं क्योंकि ‘ये देश में फैले भ्रष्टाचार का प्रतीक है.’ ‘अर्थी बाबा’ जब कैम्पेन पर निकलते हैं तो मुस्कुराते हुए लोग उन्हें कम और उनकी अर्थी को ज़्यादा गौर से देखते हैं.हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए क्लिक करें

उत्तर प्रदेश में विधान सभा चुनाव जारी हैं और चौरी-चौरा सीट पर मतदान होने में अभी कुछ दिन बाकी हैं. जहाँ एक तरफ इलाके में कुछ उम्म्मीवार घोड़ों और बैलगाड़ियों पर सवार हो नामांकन करने गए थे वहीँ राजन की ‘अर्थी’ भी कदमताल कर रही थी. सवाल पर कि खर्च कैसे चलाते हैं राजन का जवाब था, “श्मशान घाट के बाहर मेरा ऑफ़िस पूरे साल चलता है. हर व्यक्ति से सिर्फ़ एक रुपए की उम्मीद होती है और वो दे भी देते हैं. इसी से खर्च चलता है.” लेकिन जहाँ प्रचार चल रहा है वहां के लोग इन्हें देख मुस्कुराते या खुश तो होते हैं लेकिन थोड़ी सावधानी के साथ. रूद्रापुर गाँव के राणा कुलदीप ने कहा, “शायद अर्थी बाबा के 50 वोट भी न आएं. लेकिन जो काम वे कर रहे हैं वो देखने लायक है.”

Comments

comments

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular

To Top