शिक्षा/रोज़गार

योगी सरकार ने छात्रों को लैपटॉप देने के लिए रखी ये शर्त

लखनऊ . यूपी विधानसभा चुनावों में बीजेपी के संकल्पपत्र में दर्ज अहम वादे को पूरा करने के लिए योगी सरकार इन दिनों माथापच्ची कर रही है.ये वादा है छात्रों को मुफ्त लैपटॉप बांटने का. बीजेपी ने वादा किया था कि यूपी में कॉलेज में दाखिल लेने वाले हर छात्र को मुफ्त लैपटॉप दिया जाएगा. यही नहीं इन्हें हर महीने एक जीबी इंटरनेट भी मुफ्त दिया जाएगा.

इसी को ध्यान में रखकर राज्य सरकार ने योगी फ्री लैपटॉप वितरित योजना 2017 की शुरुआत की है. इस योजना के तहत 22-23 लाख युवाओं को फ्री में लैपटॉप देने की योजना बनाई है.

लेकिन इस योजना में एक ​अहम शर्त भी जोड़ी गई है. जानकारी के अनुसार इस योजना में केवल यूपी में पढ़ रहे युवाओं को ही लाभ मिलेगा. यानी इंटर पास करने के बाद जो युवा आगे पढ़ाई के लिए प्रदेश से बाहर जाएंगे. उन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा.

दरअसल 2016 में तकरीबन 26 लाख परीक्षार्थियों ने 12वीं की परीक्षा उतीर्ण की थी, जिसमें से 12 लाख परीक्षार्थियों ने बेहतर प्रदर्शन किया था जिन्‍हें लैपटॉप वितरित किया गया. इस बार अधिकारियों ने उसी आधार पर अधिकारियों ने 12 लाख लैपटॉप के वितरण के लिए तकरीबन 18 हजार करोड़ रुपये का मसौदा तैयार किया और उसे योगी कैबिनेट ने पास भी कर दिया. इसमें प्रत्‍येक लैपटॉप की कीमत 15 हजार रुपए तक है.

लेकिन 2017 में यूपी बोर्ड के 20 लाख और सीबीएसई व आईसीएसई के 1 लाख परीक्षार्थियों ने 12वीं बोर्ड की परीक्षा को उतीर्ण कर लिया है. ऐसे में अब सरकार को तकरीबन 21 लाख छात्र-छात्राओं के लिए लैपटॉप की व्‍यवस्‍था करना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है.सूत्रों के अनुसार पिछली सरकार में 13,490 रुपए प्रति यूनिट की दर पर 12 लाख लैपटॉप खरीदे गए थे. अगर इसी दर पर इस साल भी लैपटॉप की खरीद की गई तो कीमत 2832.9 करोड़ रुपए आएगी, जो योगी कैबिनेट द्वारा पास की गई 1800 करोड़ रुपए से तकरीबन एक हजार करोड़ रुपए ज्‍यादा है.

Comments

comments

Most Popular

To Top