समाचार

गुजरात चुनाव में बीजेपी के खिलाफ ही ताल ठोंक रहे हैं योगी के ये मंत्री

उत्तर प्रदेश में बीजेपी गठबंधन में रस्साकसी का असर इस बार गुजरात चुनावों में भी दिखाई देगा. प्रदेश सरकार में मंत्री और बीजेपी के सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओम प्रकाश राजभर ने गुजरात विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार खड़े करने का ऐलान कर​ दिया है.

मंगलवार को गुजरात के सूरत में लिंबायत विधानसभा में भासपा की जनसभा हुई. जिसमें ओम प्रकाश राजभर के साथ पार्टी के तमाम नेताओं ने शिरकत की.

वैसे ये पहला मौका नहीं है, जब ओमप्रकाश राजभर ने गठबंधन से अलग राह पकड़ी हो. यूपी के नगर निकाय चुनाव में भी ओम प्रकाश राजभर ने बीजेपी पर गठबंधन धर्म का पालन नहीं करने का आरोप लगाया और कई जगह मेयर व सभासद पद के लिए प्रत्याशी मैदान में उतार दिए हैं. इससे पहले भी ओम प्रकाश राजभर लगतार योगी सरकार पर तमाम आरोप लगाते रहे हैं.

उधर उत्तर प्रदेश बीजेपी अभी तक राजभर को काफी संयमित दिखाई दे रही है. लेकिन सूत्रों के अनुसार ओम प्रकाश राजभर की बयानबाजियों और गठबंधन विरोधी कृत्यों की जानकारी पार्टी हाईकमान को दे दी गई है. यही नहीं पार्टी की तरफ से ये साफ कर दिया गया है कि वह गठबंधन धर्म का पालन करती है और सभी सहयोगी दलों के हितों का ध्यान रखती है. लेकिन इसके बाद भी अगर किसी को गठबंधन से अलग होना है तो वह हो सकता है.

ओम प्रकाश राजभर ने अब ऐलान कर दिया है कि उनकी पार्टी गुजरात चुनाव में बीजेपी के खिलाफ चुनाव लड़ेगी. राजभर के इस ऐलान से यूपी में बीजेपी गठबंधन के भविष्य पर सवाल उठने लगे हैं.ओम प्रकाश राजभर ने नगर निकाय चुनाव में वोटरलिस्ट से बहुत लोगों का नाम गायब होने को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग के बहाने प्रदेश सरकार को भी कठघरे में खड़ा किया.

Comments

comments

Most Popular

To Top