समाचार

यूपी वालों को बिजली का झटका! ये रही नई दरें

उत्तर प्रदेश में निकाय चुनाव ख़त्म होते ही सूबे वालों को योगी सरकार ने बिजली का झटका दिया है. यूपी विद्युत नियामक आयोग ने गुरुवार को शहरी, ग्रामीण और व्यावसायिक उपभोक्ताओं के लिए बिजली दरों में भारी बढ़ोत्तरी की है.

सबसे ज्यादा बोझ ग्रामीण उपभोक्ताओं पर पड़ा है. पहले ग्रामीण उपभोक्ताओं से 180 रुपए प्रति माह चार्ज किया जाता था, जिसे अब बढ़ा दिया गया है. ग्रामीण अनमीटर्ड उपभोक्ताओं को अब 300 रुपए प्रतिमाह बिल देना होगा.

वहीं जिनके यहां मीटर लगा है, उन ग्रामीण उपभोक्ताओं को पहली 100 यूनिट बिजली 3 रु/यूनिट के दर से मिलेगी. 100-150 यूनिट के लिए ग्रामीण उपभोक्ताओं को 3.50 रु/यूनिट देना होगा. वहीं 150 से 300 यूनिट के लिए 4.50 रु/यूनिट देना होगा.

इतना ही नहीं नई दरों के मुताबिक ग्रामीण उपभोक्ताओं को 50 रुपए का फिक्स चार्ज भी देना होगा. ग्रामीण इलाकों में मार्च से 400 रुपए प्रति किलोवाट का भी चार्ज लगेगा.

यूपी विद्युत नियामक आयोग के चेयरमैन एसके अग्रवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नई दरों की घोषणा की. मौजूदा समय में बिजली विभाग करीब 75 हजार करोड़ के घाटे से जूझ रही है. यूपी के उर्जा विभाग की बिजली कंपनियों द्वारा विधुत नियामक आयोग को काफी पहले ही विद्युत दरों में वृद्धि में एक व्यापक बढ़ोत्तरी का प्रस्ताव भेजा था. जिसे आज लागू कर दिया गया.

शहरी उपभोक्ताओं के लिए नई दरें

150 यूनिट 4.90 रूपए की दर से मिलेगी

१५०-300 यूनिट 5.40 रुपए में मिलेगी

३००-500 यूनिट 6.20 रुपए की दर से मिलेगी

५०० यूनिट से ऊपर 6.50 रुपए की दर से बिजली मिलेगी

शहरी व्यावसायिक उपभोक्ताओं को 300 यूनिट तक 7 रुपए प्रति यूनिट

शहरी 300 से 1000 यूनिट 8 रुपए प्रतियूनिट किया गया

शहरी व्यावसायिक फिक्स चार्ज 200 से बढ़ाकर 300 किया गया

वहीं ग्रामीण अनमीटर्ड कॉमर्शियल उपभोक्ताओं को 1000 रुपए प्रतिमाह देना होगा. पहले यह दर 600 रुपए थी. किसानों को सिंचाई के लिए अब 100 के बजाय 150 प्रति बीएचपी की दर से बिजली मिलेगी. बिजली

Comments

comments

Most Popular

To Top